News

वृक्षारोपण

हिंगोनिया गौशाला में गौवंश के खुले विचरण हेतु 2000 नीम के पौधे लगाये गये हैं। ये पौधे 3 महीने में 4 फ़ीट ऊंचाई के हो गये हैं। ये पौधे गौवंश के खुले विचरण , ज़मीन के कार्बन को बढ़ाने व Read More …

गौ आधारित प्राकृतिक गेहूँ

सीकर जिले के कोलवा गांव के गजेंद्र सिंह जी गौ आधारित प्राकृतिक खेती के क्रम को सुचारित रखते हुए गेहूँ की खेती कर रहे हैं। इनके गेहूँ 8377866347 पर संपर्क करके प्राप्त किये जा सकेंगे।

गौ आधारित प्राकृतिक गेहूँ

जयपुर ज़िले के रोजड़ी गांव के गुमान सिंह जी ने गौ आधारित खेती का संकल्प किया है। इन्होंने 7 बीघा में गेहूँ की खेती से शुरुआत की है। इस फसल में किसी भी तरह के कीटनाशक का इस्तेमाल नहीं किया Read More …

जीवामृत द्वारा पपीता खेती

सीकर जिले के मंडुस्या गांव के कालू राम जी ने गौ आधारित खेती की शुरुआत की है। इनके पपीते के पौधों में पपीते गिरने की समस्या का जीवामृत से समाधान किया गया है। अभी यह खेती सभी रसायनों से मुक्त Read More …

प्राकृतिक बाजरी, मूँग व तिल

नागौर जिले के नोखा जोधा गांव के लीलाधर शर्मा जी ने गौ आधारित प्राकृतिक खेती का संकल्प लिया है। अभी इनके उत्पाद में प्राकृतिक बाजरी, तिल व मूँग उपलब्ध हैं। इच्छुक व्यक्ति 8377866347 पर संपर्क करके इन उत्पादों का लाभ Read More …

गौ आधारित मूँगफली व बाजरा

सीकर ज़िले के कोलवा गाँव के गजेंद्र सिंह जी ने गौ आधारित शुद्ध उत्पादन की शुरुआत करते हुए गौ आधारित खेती का संकल्प लिया है। इन्होने 15 बीघा में गौ आधारित शुद्ध मूँगफली व बाजरा का उत्पादन करके इलाके में Read More …